Government Schemes of India | भारत की सरकारी योजनाएं

Government Schemes of India  भारत सरकार के  द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं को देश के नागरिको के लिए लाती रहती है| आज अपने इस लेख के माध्यम से हम आपको भारत में शुरु हुई योजनओ के बारे में जानकारी देंगे | जैसे जरूरी दस्तावेज,लाभ, महत्वपूर्ण तिथियां, पंजीकरण प्रक्रिया, उपयोगकर्ता दिशानिर्देश | सरकार इन योजनाओ के द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम महिला कल्याण, युवा कल्याण, कृषि कल्याण देश में चलाए जा रहे हैं | तो चलिए जानते  है की हमारी सरकार ने लोगो के लिए क्या नयी योजनाये शुरु की है|

Table of Contents hide

नामंनि गंगे योजना 

  • नामंनि गंगे योजना की शुरुआत गंगा नदी के संरक्षण एवं सफाई के लिए 10 जुलाई, 2014 को की गई थी|
  • इस योजना की देख-रेख जल संसाधन मंत्री उमा भारती को दी गई है|
  • इस योजन को 2020 तक पुरा करने का लक्ष्य है|
  • इस योजना के तहत अगले 5 वर्ष के लिए 2037 करोड़ रूपये आवंटित किये गए है| 

प्रधानमंत्री जन-धन योजना

  • प्रधानमंत्री जन-धन योजना की शुरुआत 28 अगस्त, 2014 को की गई|
  • इस योजना का नारा है : मेरा खाता, भाग्य विधाता
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य वंचित वर्गो तक बैंक खाता, ऋण, बीमा, पेंशन लाभ पहुँचाना है|1
  • 10 साल  से अधिक का कोई भी व्यक्ति शून्य बैलेंस के साथ इस योजना के तहत एक बैंक खाता खोल सकता है|
  • इस योजना के अंतर्गत 1 लाख रूपये का दुर्घटना बीमा तथा 30,000 रूपये का जीवन बीमा का प्रावधान है|
  • 17, जनवरी, 2018 तक इस योजना के अंतर्गत 30.97 करोड़ खाते खोले जा चुके है| 

मेक इन इंडिया

  • मेक इन इंडिया योजना की शुरुआत 25 सितम्बर, 2014 को की गई थी|
  • इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य बहु-राष्ट्रीय और राष्ट्रीय कम्पनीयों को भारत में अपने उत्पादों के निर्माण के लिए प्रोत्साहित तथा अर्थव्यवस्था के 25 क्षेत्रों में रोजगार सृजन एवं कौशल वृद्धि पर ध्यान केन्द्रित करना है|
  • इस कार्यक्रम का मुख्य चालू वर्ष 2020 तक GDP में विनिर्माण क्षेत्रों के हिस्सेदारी को 16% से बड़ाकर 25% करना है|

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना

  • दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना की शुरुआत 25 सितम्बर, 2014 को पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 98वें जन्म तिथि पर शुरु की गई थी|
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में निवासित युवाओं के लिय कौशल और उत्पादक क्षमता को विकसित करना है|
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य 15 से 35 की उम्र के 10 लाख ग्रामीण युवाओं की रोजगार वितरण करना है|
  • इस योजना के लिए 1500 करोड़ रूपये का प्रारंभिक फंड आवंटित किया गया था| 

दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना

  • दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना की शुरुआत 25 जुलाई, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य सभी गाँवों का विद्युतीकरण करना, वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति में सुधार एवं उचित मॉनिटरिंग करना है। 

दीन दयाल उपाध्याय ‘स्पर्श’ योजना

  • दीन दयाल उपाध्याय ‘स्पर्श’ योजना की शुरूआत 3 नवम्बर, 2017 को स्कूली बच्चों (6ठी से 9वीं क्लास) की डाक टिकट संग्रह में रूची बढ़ाने के उद्देश्य से आरंभ की गई एक छात्रवृत्ति योजना है।
  • इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक कक्षा (6 से 9 तक) में से 10 छात्रों अर्थात् अधिकत्तम 40 छात्रों को कुल 6000 रुपया प्रति वर्ष अर्थात् 500 रुपया प्रतिमाह छात्रवृत्ति प्रदान की जायेगी। 

सांसद आदर्श ग्राम योजना

  • सांसद आदर्श ग्राम योजना की शुरूआत  11 अक्टूबर, 2014 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा जयप्रकाश नारायण के जन्मदिन पर शुरू की गई एक योजना है।
  •  इस योजना का मुख्य उद्देश्य गाँव के समाजिक, सांस्कृतिक और बुनियादी ढ़ाचे के विकास के आदर्श गाँवों में नामित मॉडल गाँवों का विकास है।
  • इस योजना का लक्ष्य प्रत्येक सांसद द्वारा वर्ष 2019 तक तीन गाँव तथा वर्ष 2024 तक कुल 8 गाँवों को गोद लेकर विकसित करना है।
  • इस योजना के लिए कोई नई निधि आवंटित नहीं की गई है। 

मिशन इंद्रधनुष अभियान

  • मिशन इन्द्रधनुष अभियान को भारत सरकार के केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी बच्चों को टिकाकरण के अंतर्गत लाने के लिए सुशासन दिवस के अवसर पर 25 दिसम्बर, 2014 को प्रारंभ किया था।
  • इंद्रधनुष के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाला इस अभियान का उद्देश्य 2020 तक संपूर्ण टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करना है।
  • इस योजना के अंतर्गत 7 बीमारियों (डिफ्थीरिया, काली खाँसी, टिटनेस, पोलियो, टीबी, खसरा और हेपेटाइटिस ‘बी’) के लिए टीकाकरण किया जाता है| 

Government Schemes of India की पहल योजना

  • पहल योजना की शुरूआत  1 जनवरी, 2015 को राष्ट्रव्यापी स्तर पर लागू किया गया था।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य एलपीजी (LGP) सिलेंडर के सब्सिडी के पैसों को सीधे उपभेक्ताओं के बैंक खातों में भेजना है।
  • यह योजना गिनीज वर्ल्ड में दर्ज किया गया है अर्थात् यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सबसे प्रसिद्ध योजना है।
  • इस योजना को DBTL (Direct Benefit Transfer for LPG) स्कीम के नाम से भी जाना जाता है। 

Government Schemes of India की हृदय योजना

  • हृदय योजना की शुरूआत 21 जनवरी, 2015 को भारत के पुराने शहर, गाँव के विकास और वृद्धि के लिए की गई है।
  • हृदय (HRIDAY) का पूर्णरूप है – Heritage City Development and इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी भारतीय नागरिकों को आकस्मिक Augmentation Yojana
  • इस योजना को शहरी विकास मंत्रालय द्वारा आरंभ किया गया है।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य देश के चयनित 12 शहरों (अजमेर, अमरावती (आंध्र प्रदेश), अमृतसर, बादामी, द्वारका, गया, कांचीपुरम, मथुरा, पुरी, वाराणसी, वेलान्कन्नी एवं वारंगल) की सांस्कृतिक धरोहर को फिर से जीवित करना है।
  • इस योजना को पुरा करने के लिए 27 महीनों (मार्च, 2017) का समय तथा 500 करोड़ रूपये खर्च करने का बजट रखा गया है। 

बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना

  • बेटी बचाओ, बेटी पढाओ योजना की शुरूआत  भारत सरकार द्वारा 22 जनवरी, 2015 मोदी द्वारा पानीपत (हरियाणा) से शुरू की गई थी।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य लड़कियों को बचाने, सशक्त बनाने और लड़कियों के लिए कल्याणकारी सेवाओं के लिए जागरूकता पैदा करना है।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य लैंगिक समानता को बढ़ावा देना और लिंगानुपात को ऊपर उठाना है।
  • यह योजना 100 करोड़ रूपये की प्रारंभिक राशि के साथ शुरू की गई थी।
  • माधुरी दीक्षित को भारत सरकार द्वारा इस अभियान का ब्रांड एम्बेस्डर नियुक्त किया गया है।|
  • साक्षी मलिक को हरियाणा सरकार द्वारा इस अभियान का ब्रांड एम्बेस्डर नियुक्त किया गया है। 

प्रधानमत्री ‘मुद्रा’ योजना

  • प्रधानमत्री ‘मुद्रा’ योजना की शुरूआत  प्रधानमंत्री द्वारा 8 अप्रैल, 2015 की गई थी।
  • MUDRA का पूर्णरूप है : Micro Units Development & Refinance  Agency
  • सूक्ष्म उद्यमों के क्षेत्र के विकास के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करना एवं ऋण उपलब्ध कराना है।
  • इस योजना के अंतर्गत तीन प्रकार के लोन दिए जाते है – शिशु, किशोर तथा तरुण।
  • शिशु के तहत 50 हजार, किशोर के तहत 5 लाख तथा तरुण के तहत 10 लाख रुपए तक के लोन देने का प्रावधान है।
  • मुद्रा योजना के तहत लोन प्रदान करने में किसी भी तरह की प्रोसेसिंग चार्ज नहीं की जाती है। 

Government Schemes of India की उजाला योजना

  • उजाला योजना की शुरूआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ‘बचत लैंप योजना’ के स्थान पर 1 मई, 2015 को की गई थी।
  • UJALA का पूर्णरूप है : Unnat Jyoti by Affordable LEDs for All
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य बिजली की खपत को कम करने के लिए LED बल्बों का कम मूल्य पर वितरण करना है। 

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  9 मई, 2015 कोलकाता से किया था|
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी भारतीय नागरिकों को आकस्मिक बीमा कवर प्रदान करना है|
  • इस योजना के तहत बचत बैंक खाते के साथ 18 से 70 वर्ष आयु का कोई भी भारतीय नागरिक 12 रुपये प्रति वर्ष का प्रीमियम भर कर 1 लाख से 2 लाख रुपये तक का दुर्घटना बीमा का लाभ ले सकता है। 

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना

  • प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना की शुरूआत  9 मई, 2015 प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरु किया गया था|
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी भारतीय नागरिकों को जीवन बीमा कवर प्रदान करना है।
  • इस योजना के तहत 18 से 50 वर्ष आयु का कोई भी भारतीय नागरिक 330 रुपये प्रतिवर्ष का प्रीमियम भरकर 2 लाख रुपये का जीवन बीमा का लाभ प्राप्त कर सकता है। 

अटल पेंशन योजना

  • अटल पेंशन योजना की शुरूआत 9 मई, 2015 को कोलकाता से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया था।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य असंगठित क्षेत्र के लोगों को पेंशन सुविधा प्रदान करना है।
  • यह योजना पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण द्वारा प्रशासित है।
  • इस योजना के अंतर्गत 18 से 40 वर्ष की आयु वर्ग का कोई भी व्यक्ति अपने द्वारा बैंक में जामा किये गए रुपये के आधार पर 1 हजार से 5 हजार तक का पेंशन प्राप्त कर सकता है|
  • इस योजना के तहत, 60 वर्ष की आयु के बाद योजना के लाभों का लाभ उठाने के लिए एक व्यक्ति को पेंशन मिलने से कम-से-कम 20 साल पहले उसका योगदान करना होगा। 

Government Schemes of India की अमरूत योजना

  • अमरूत योजना की शुरूआतभारत सरकार द्वारा 24 जून, 2015 को की गई थी।
  • AMRUT का पूर्ण रूप है : Atal Mission for Rejuvenation and Urban Transformation
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य सभी विशेषकर गरीब और वंचित लोंगों के लिए जीवन की गुणवत्ता में सुधार के लिए बेबुनियादी सुविधाएँ जैसे-जल आपूर्ति, सीवरेज, शहरी परिवहन, पार्क प्रदान करना है।
  • इस योजना के अंतर्गत 100 स्मार्ट सिटी बनाने, 500 शहरों में आधारभूत सुविधाओं का विकास करने और 2022 तक शहरी इलाकों में सभी के लिए घर बनाने की योजना शामिल है।
  • इस योजना के लिए सरकार द्वारा 5000 करोड़ रूपये का बजट रखा गया है। 

स्मार्ट सिटी योजना

  • स्मार्ट सिटी योजना की शुरूआत 25 जून, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य 2020 तक 161 चुने शहरों (पूर्व में 100) को स्मार्ट शहर के रूप में विकसित करना है। 

प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

  • प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना की शुरूआत 16 जुलाई, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य युवाओं को प्रशिक्षित कर नौकरी मुहैया कराना है। 

प्रधानमंत्री आवास योजना

  • प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरूआत 25 जून, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना को ‘हाउसिंग फॉर ऑल’ (सबके लिए आवास) के नाम से भी जाना जाता है।
  • इस योजना का लक्ष्य 2022 तक 2 करोड़ नये हाउस का निर्माण करना है। 

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना

  • प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की शुरूआत 1 जुलाई, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य किसी भी तरीके से किसानों को पानी उपलब्ध करना है |
  • इस योजना का लक्ष्य 2020 तक किसानों की आय को दुगुना करना है। 

स्कील इंडिया मिशन

  • स्कील इंडिया मिशन की शुरूआत 15 जुलाई, 2015 को की गई।
  • इस योजना का उद्देश्य 2022 तक देश के युवाओं का कौशल विकास करना है।
  • इस योजना के ब्रांड एम्बेसडर सचिन तेंदुलकर है। 

डिजिटल इंडिया मिशन

  • डिजिटल इंडिया मिशन की शुरूआत 1 जुलाई, 2015 को की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य सभी सरकारी सेवाओं को इलेक्ट्रॉनिक तरीके से जनता को उपलब्ध कराना है। 

स्टार्ट-अप इंडिया

  • स्टार्ट-अप-इंडिया की शुरूआत 16 जनवरी, 2016 को की गई।
  • इसका मुख्य उद्देश्य नये कारोबारियों को बढ़ावा देना तथा कारोबार शुरू करने के लिए अनुकूल वातरवरण का सृजन करना है। 

सेतु भारतम् योजना

  • सेतु भारतम् योजना की शुरूआत 4 मार्च, 2016 को की गई थी।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य 2019 तक सभी राष्ट्रीय राजमार्गो को रेलवे क्रोसिंग से मुक्त करना है |
  • इस योजना के लिए कुल 1500 ब्रीज बनाने के लिए 50000 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है | 

स्टैण्ड अप इंडिया

  • स्टैण्ड अप इंडिया की शुरूआत 5 अप्रैल, 2016 को की गई थी।
  • इस योजना का लक्ष्य अनुसूचित जाति/जनजाति एवं महिला उद्यमियों को साख उपलब्ध करना है |
  • इस योजना के अंतर्गत नई कंपनियाँ स्थापित करने हेतु 10 लाख से 1करोड़ तक का ऋण देना सुनिचित किया गया है। 

ग्राम उदय से भारत उदय

  • ग्राम उदय से भारत उदय अभियान की शुरूआत महु में बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की 125वीं जयंती पर 14 से 24 अप्रैल, 2016 तक चलाई गई।
  • इस योजना के अंतर्गत देश में सही विकास पर बल दिया गया था। 

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना

  • प्रधानमंत्री उज्जवला योजना की शुरूआत 1 मई, 2016 को की गई थी।
  • इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों के BPL परिवारों को मुफ्त LPG कनेक्शन देना है।
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा BPL परिवारों को प्रति कनेक्शन 1600 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।
  • इस योजना का बजट 8000 करोड़ रुपये रखा गया है। 

सागरमाला प्रोजेक्ट

  • सागरमाला प्रोजेक्ट की शुरूआत 31 जुलाई, 2015 को की गई थी।
  • इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत 12 बंदरगाहों को विश्व स्तरीय करने के लिए.7000 करोड़ रुपए का बजट रखा गया है। 

Government Schemes of India की उदय योजना

  • इस योजना की शुरूआत 5 नवम्बर, 2015 को की गई थी।
  • उदय (UDAY) का पूर्णरूप Ujwal Discom Assurance Yojana है।
  • इस योजना का मुख्य लक्ष्य बिजली वितरण कंपनियों (डिस्कॉम) का वित्तीय सुधार एवं घाटों से उबारना है।
  • इस योजना से जुड़ने वाला पहला राज्य झारखंड है। 

Government Schemes of India की दीक्षा पोर्टल

  • दीक्षा पोर्टल योजना की शुरूआत की शुरूआत 5 सितम्बर, 2017 को मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया था।
  • यह पोर्टल (diksha.gov.in) शिक्षक को ट्रेनिंग देने और सशक्त बनाने में सहायक है। 

प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना

  • प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना की शुरूआत 5 मार्च, 2019 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वस्त्रल (गुजरात) से की गई।
  • इस योजना में असंगठित क्षेत्र के श्रामिकों को वृद्धावस्था के दौरान 3000 रूपये की मासिक पेंशन का लाभ मिलेगा। यदि पेंशन प्राप्ति के दौरान अभिदाता की मृत्यु हो जाती है तो लाभार्थी को मिलने वाली पेंशन की 50 प्रतिशत राशि फैमिली पेंशन के रूप में लाभार्थी के जीवनसाथी को मिलेगी।
  • इस योजना के पात्र 18-40 वर्ष आयु समूह के घर से काम करने वाले श्रमिक, स्ट्रीट वेण्डर, मिड डे मिल श्रमिक, ईंट भट्टा मजदूर, सिर पर बोझा ढोने वाले श्रमिक, कचरा उठाने वाले, निर्माण मजदूर, घरेलू कामगार, धोबी, रिक्शा चालक, भूमिहीन मजदूर, हथकरघा मजदूर आदि ऐसे श्रमिक होंगे जिनकी मासिक आय 15000 रूपया या उससे कम है। 

वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना

  • वरिष्ठ पेंशन बीमा योजना की शुरूआत 1 जनवरी, 2017 को प्रधानमंत्री द्वारा घोषित एवं 1 अप्रैल, 2017 को भारतीय जीवन निगम (LIC) द्वारा शुरू की गई।
  • इस योजना का उद्देश्य 60 वर्ष और इससे अधिक आयु वर्ग के वरिष्ठ नागरिकों को गारंटी न्यूनत्तम ब्याज दर देना है।
  • यह गारंटीकृत ब्याज दर 10 वर्षों के लिए 8% होगी। 

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना

  • प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की शुरूआत 21 जुलाई, 2017 को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने की।
  • 60 या उससे अधिक आयु वर्ग के लिए यह एक पेंशन योजना है।
  • इस योजना के अंतर्गत वरिष्ठ नागरिको को मासिक पेंशन विकल्प चुनने पर 10 वर्षों हेतु 8 प्रतिशत की गारंटीशुदा रिटर्न मिलेगा। 

प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना

  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 12 सितम्बर, 2019 को राँची (झारखंड) में प्रधानमंत्री किसान मान-धन योजना का शुभारंभ किया।
  • इस योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को 60 वर्ष की आयु होने पर न्यूनत्तम रूपया 3000 प्रति माह पेंशन उपलब्ध कराई जाएगी।
  • इस योजना में 18 से 40 वर्ष तक की आयु वर्ग वाले किसानों को ही शामिल किया जायेगा जिनके पास 2 हेक्टेयर तक ही खेती की जमीन है।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए कम से कम 20 साल और अधिकत्तम 42 साल तक 55 रूपये से 200 रूपये तक मासिक अंशदान करना होगा।
  • इस योजना से 5 करोड़ लघु और सीमांत किसानों का जीवन सुरक्षित होगा। इस योजना का कुल बजट 10 हजार करोड़ रूपये का है। 

प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना – सौभाग्य

  • प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना – सौभाग्य  की शुरूआत 25 सितम्बर, 2017 को की गई।
  • इस योजना का पुरा नाम ‘प्रधानमंत्री सहज बिजल हर घर योजना’ है।
  • इस योजना के तहत 31 मार्च, 2019 तक हर घर में बिजली पहुँचाने का लक्ष्य रखा गया है। इस योजना के तहत सिर्फ 500 रूपये के भुगतान पर अन्य घरों को भी विद्युत कनेक्शन मुहैया कराए जाएंगे। 

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना – आयुष्मान भारत

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना -आयुष्मान भारत की शुरूआत 23 सितम्बर, 2018 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा झारखंड की राजधानी राँची से की गई।
  • इस योजना का उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों (बीपीएल धारक) को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है। इसके अंतर्गत आने वाले प्रत्येक परिवार को 5 लाख तक का कैश रहित स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जायेगा।
  • इस योजना से 10.74 करोड़ बीपीएल धारकों को फायदा होगा।
  • इस योजना में 1350 तरह की बीमारी जिसमें जाँच, सर्जरी, मेडिसिन शामिल है।

Note यदि आप Government Schemes of India के बारे में अधिक जानकारी चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में अपनी समस्या लिखकर हमसे साझा करें हम आपको सभी समस्याओं को जल्द से जल्द उपलब्ध कराने का प्रयास करेंगे

Read Our Other Article : Haryana Parivar Pehchan Patra | हरियाणा परिवार पहचान पत्र

Share This Article

Leave a Comment